Home » OTHER » राशन की कालाबाजारी के खिलाफ प्रदर्शन

राशन की कालाबाजारी के खिलाफ प्रदर्शन

खुले बाजार में सरकारी राशन की बिक्री का लगाया आरोप

ऋषिकेश।
कांग्रेस गरीब बेघर जन प्रकोष्ठ के कार्यकर्ताओं ने नगर में सरकारी राशन की कालाबाजारी के खिलाफ प्रदर्शन किया। आरोप लगाया कि सांठगांठ से सरकारी राशन खुले बाजार में बेचा जा रहा है।
कांग्रेस गरीब बेघर जन प्रकोष्ठ के कार्यकर्ता मंगलवार को रेलवे स्टेशन के समीप एकत्र हुए। उन्होंने सरकारी मानकों के अनुरूप राशनकार्ड धारकों को राशन नहीं मिलने का आरोप लगाया। प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक विजयपाल सिंह रावत ने सरकारी राशन की कालाबाजारी का आरोप लगाया। कहा कि शहर में राशन माफिया सक्रिय हो रखे हैं। सस्ते गल्ले की दुकानों में राशन पहुंचने से पहले ही खुले बाजार में पहुंच जाता है। इसे दुकानदार महंगे दामों में बेचकर मुनाफा कमा रहे हैं। वहीं, जरूरतमंद लोगों को राशन नहीं मिल पा रहा है।
प्रकोष्ठ से जुड़े कार्यकर्ताओं ने विभाग और राशन माफिया के खिलाफ प्रदर्शन किया। प्रदेश प्रवक्ता सोहन सिंह रौतेला और नगर अध्यक्ष सुमित चौधरी ने कहा कि अक्सर सस्ता गल्ला राशन विक्रेता की दुकान बंद रहती है। प्रदर्शन करने वालों में डॉ. कृपाल सिंह रावत, मुलायम सिंह, देवी व्यास, ऋषि कश्यप, सतपाल, राहुल, अंजलि, किरन, कुसुमनाथ, मोनिका, तारा देवी, निर्मला, बबीता, राधा, लोकेन्द्र, ओम प्रकाश, राजकुमार, लाल सिंह, देवेन्द्र आदि शामिल थे।
102
खुले बाजार में बिक रहा सरकारी राशन?
ऋषिकेश। सरकारी सस्ते गल्ले की दुकानें अक्सर बंद ही मिलती हैं। समय पर राशन देने का रिकॉर्ड दस प्रतिशत दुकानदारों का ही होगा। ऐसे में जब राशन विक्रेता ग्राहकों को राशन नहीं आया या खत्म हो गया कहे तो संशय होना लाजिमी है। पूर्व में भी मंडी समिति ने नगर में छापेमारी कर गोदामों में सरकारी चीनी पकड़ी थी।


Leave a Reply