Home » TRENDING » FB पर बनाई फर्जी प्रोफाइल, डाल दिया लड़की का नंबर

FB पर बनाई फर्जी प्रोफाइल, डाल दिया लड़की का नंबर

हर्षद मेहता पांच साल पहले जब अपनी पत्नी की अंतरंग तस्वीरें कैमरे में कैद कर रहे थे तब उनके मन में इस तरह की आशंका भी नहीं रही होगी। अहमदाबाद के रनीप में रहने वाला हर्षद मेहता का परिवार आज इन्हीं तस्वीरों की वजह से तबाह है। मेहता ने अपनी पत्नी की अंतरंग तस्वीरें जिस कैमरे से खींची थी वह कैमरा खो गया था। तीन साल बाद वह अपनी पत्नी की इंटिमेट फोटो सोशल मीडिया पर देखकर दंग रह गए।

मेहता के पास सब कुछ है। वह एक कामयाब बिजनस मैन हैं। शानदार हवेली है। दो स्मार्ट बच्चों के साथ मेहता की खूबसूरत पत्नी हैं। लेकिन आज की तारीख में 40 साल के हर्षद मेहता शर्म के कारण घर से बाहर निकलने में खुद को असमर्थ पा रहे हैं। पांच साल पहले के बेफिक्र इंजॉय ने उनकी फैमिली लाइफ को नरक बना दिया है। इनकी पत्नी की न्यूड फोटो इंटरनेट पर सर्कुलेट हो रही है। हर्षद मेहता इसे रोक पाएंगे उम्मीद न के बराबर है।

हर्षद ने पत्नी की ये तस्वीरें 2010 में खींची थीं। कुछ देर बाद उनका कैमरा खो गया। हर्षद तब तक इस मामले में बेफिक्र रहे जब तक की ये तस्वीरें फेसबुक पॉर्न पेज पर हॉट ऐंड सेक्सी भाभी ऐंड आंटी टाइटल से नहीं आ गईं। हर्षद मेहता को पता चला तो हैरान रह गए। अब मेहता की पत्नी की न्यूड तस्वीर पूरी दुनिया के सामने है। इसके बाद उन्होंने क्राइम ब्रांच साइबर सेल में शिकायत दर्ज कराई। क्राइम ब्रांच के एसीपी केएन पटेल ने कहा, ‘हमने फेसबुक को यह पेज हटाने के लिए पत्र लिखा है।’ आईटी ऐक्ट 66 डी 2000 के मुताबिक फर्जी सोशल नेटवर्किंग प्रोफाइल बनाना दंडनीय अपराध है। इस मामले में एक साल कैद की सजा के साथ एक लाख रुपए फाइन का प्रावधान है। मामले की गंभीरता को देखते हुए कैद की सजा बढ़ाई भी जा सकती है। हालांकि इंडिया के बाहर इस तरह के पेज को मैनेज करने वालों को पुलिस पकड़ने में असमर्थ है।


दुर्भाग्य से मेहता की कहानी का यहीं अंत नहीं होता है। एक महीने पहले हर्षिद मेहता के पास उनके एक रिश्तेदार ने कॉल किया। उसने कहा कि दीपिका शाह के नाम से एक फर्जी फेसबुक प्रोफाइल बनाया गया है। इसक पेज पर वही न्यूड तस्वीर अपलोड की गई है। यह खबर दोस्तों और रिश्तेदारों के बीच आग की तरह फैली। पटेल की आज की तारीख में किसी से बात करने की स्थिति में नहीं हैं। हर्षद ने एक बार फिर से क्राइम ब्रांच में शिकायत दर्ज कराई। जांच में पता चला कि यह गैंग गुजरात से बाहर का है। जब हमारे सहयोगी अखबार अहमदाबाद मिरर ने पटेल से बात की तो उन्होंने बताया कि इस वाकये से मैं तबाह हो गया हूं। मैं अब और प्रॉब्लम से जूझने की स्थिति में नहीं हूं। इस बारे में मैं कुछ भी नहीं कह सकता।

क्राइम ब्रांच के मुताबिक फेसबुक पर इस तरह के हजारों फर्जी प्रोफाइल हैं। इन फर्जी प्रोफाइल से भोले लोग चपेट में आ जाते हैं। हमलोग के पास इस तरह के मामले आते रहते हैं। कुछ लोग तो इस तरह के फर्जी अकाउंट मजे के लिए बनाते हैं लेकिन भोले लोग इसकी चपेट में आसानी से आ जाते हैं। इस तरह के फर्जी प्रोफाइल से बदले भी लिए जा रहे हैं।

इस तरह की तस्वीरें लीक होने का संकट मोबाइल कैमरों से ज्यादा होता है। स्मार्टफोन में तस्वीरों को फिर से स्टोर करना आसान होता है। इसके साथ ही मोबाइल से गोपनीय डेटा और बैंकिंग की जानकारी सार्वजनिक होने की आशंका बनी रहती है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि इंटरनेट से फोटो को पूरी तरह हटा देना संभव नहीं है। ऐसी तस्वीरें इंटरनेट पर लंबे वक्त के बाद अचानक दिखती हैं। साइबर एक्सपर्ट सिद्धार्थ पी. भट्ट ने कहा कि गैजेट्स में इस तरह की तस्वीरें नहीं रखनी चाहिए। यदि कोई शख्स इस तरह की तस्वीरें रखता है तो उसे पासवर्ड प्रोटेक्टेड कंप्यूटर में रखना चाहिए। यहां तक कि इन मामलों में अपने रिश्तेदारों और दोस्तों से भी सतर्क रहना चाहिए।


Leave a Reply