Home » OTHER » अंतिम सत्र गैरसैंण को लेकर कवायद तेज

अंतिम सत्र गैरसैंण को लेकर कवायद तेज

देहरादून।
उत्तराखंड की मौजूदा यानि तीसरी विधानसभा का अंतिम सत्र आगामी नवंबर में गैरसैंण में होगा। जिसके मद्देनजर स्पीकर गोविंद सिंह कुंजवाल ने बैठक कर अफसरों को जरूरी निर्देश दिए हैं।
विधानसभा अध्यक्ष ने नवंबर में गैरसैंण में होने जा रहे अंतिम सत्र के मद्देनजर सुरक्षा और अन्य व्यवस्थाओं की समीक्षा बैठक की। जिसमें डिप्टी स्पीकर डा अनुसुईया प्रसाद मैखुरी, मुख्य सचिव शत्रुघ्न सिंह और एडीजी अनिल रतूडी समेत विभिन्न विभागों के अफसर मौजूद रहे।
उनका कहना है कि हमारी कोशिश है कि गैरसैंण के भरालीसैंण में निर्माणाधीन विधानभवन में ही अंतिम सत्र आहूत हो। स्पीकर का कहना है कि चमोली के डीएम, एसएसपी समेत अन्य सभी विभागों के अफसरों को समुचित निर्देश दिए गए हैं। कुंजवाल का कहना है कि सत्र के कार्यक्रम पर राज्य सरकार को अंतिम निर्णय लेना है।
104
उधर स्पीकर गोविंद सिंह कुंजवाल ने बीजेपी को अपने विवेकाधीन कोष पर सवाल उठाने पर आड़े हाथों लिया है। उनका कहना है मैंने नियमों के तहत अपने कोष से सहायता दी है। कुंजवाल का कहना है कि उन्हें मेरे विवेक पर सवाल खड़ा करने का अधिकार नहीं है। स्पीकर का कहना है कि ये दुर्भाग्य है कि कुछ लोगों के पास विकास की सोच नहीं है। कुंजवाल ने गैरसैंण विधान भवन पर एनजीटी के उठाए सवाल पर कहा कि वहां मानकों के तहत निर्माण हो रहा है।


Leave a Reply