Home » OTHER » विरोध के चलते चाहर दीवारी का काम बंद

विरोध के चलते चाहर दीवारी का काम बंद

हिल्ट्रान से सटी भूमि पर टीन की चादर लगाकर हो रही थी घेराबंदी

ऋषिकेश।
शनिवार दोपहर बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स ढालवाला पहुंची। पुलिस की मौजूदगी में ढालवाला में हिल्ट्रान की 10 बीघा भूमि पर टीन की चादर लगाकर घेराबंदी शुरू कर दी गई। भूमि पर कब्जा होते देखकर बड़ी संख्या में लोग मौके पर पहुंच गए और विरोध शुरू कर दिया। क्षेत्रवासी इस भूमि को टेक्निकल कॉलेज खोलने के लिए प्रस्तावित बता रहे थे। आरोप था कि आचार संहिता के दौरान ही कब्जे की कार्रवाई क्यों की जा रही है? विरोध के चलते चाहर दीवारी का काम बंद कर दिया गया। पुलिस भी दोपहर बाद लौट गई। पूर्व प्रधान ढालवाला रोशन रतूड़ी का कहना है कि 2014 में यह भूमि टेक्निकल कॉलेज खोलने के लिए प्रस्तावित है लेकिन 2015 में इसे सिडकुल को आवंटित कर दिया गया। इसके पीछे राज्य के एक चर्चित बड़े पूर्व अधिकारी का हाथ है। जिसकी शह पर भूमि को खुर्दबुर्द करने का प्रयास किया जा रहा है। विरोध करने वालों में सुरेन्द्र कुलियाल, विनोद कुकरेती, निर्मल उनियाल, उमंग थलवाल, जगदीश उनियाल, ऋषिराम, दिनेश डाराल, रमेश उनियाल, हिमांशु बिज्लवाण आदि शामिल थे।

यह भूमि हिल्ट्रान से सिडकुल को स्थानांतरित की जा रही है। इसमें विरोध का औचित्य समझ नहीं आ रहा है। ढालवाला में जिस स्थान पर भूमि है। वह औद्योगिक क्षेत्र है। सिडकुल को भूमि स्थानातंरित होने के बाद यहां फैक्ट्री लगाई जाएगी।
इंदुधर बौड़ाई, डीएम टिहरी गढ़वाल