Home » OTHER » फिर से तहसील के चक्कर काट रही छात्रायें

फिर से तहसील के चक्कर काट रही छात्रायें

कन्याधन योजनाः

ऋषिकेश।
गौरा देवी कन्याधन योजना के फॉर्म भरने में छात्राओं को पसीना बहाना पड़ रहा है। छात्राओं के साथ अभिभावक भी तहसील के चक्कर काटने को मजबूर हो रहे है। कारण कि स्कूलों ने छात्राओं को दोबारा से फॉर्म भरकर जमा करने को कहा है। पहले सामान्य और आरक्षित जाति के लिए एक ही फॉर्म का प्रावधान था। लेकिन अब समाज कल्याण विभाग ने फॉर्म का स्वरूप ही बदल दिया। सामान्य जाति व आरक्षित वर्ग के लिए विभाग ने अलग-अलग फॉर्म जारी कर दिये है। सवाल है कि स्कूलों ने पुराने स्वरुप के फॉर्म कहां से लेकर बांटे या विभाग ने ही स्कूलों को पहले पुराने फॉर्म उपलब्ध करा दिये।
सामान्य और आरक्षित वर्गों के लिए अलग फॉर्म होने से अब स्कूल छात्राओं को बुलाकर नए फॉर्म वितरित कर रहा है। पहले फॉर्म भरकर स्कूलों में जमा कर चुकी छात्रायें भी दोबारा से फॉर्म भर रही है। विभाग की फजीहत से तहसील में छात्रायें और अभिभावकों का जमावड़ा लग रहा है। बोर्ड परीक्षा की तैयारी में जुटी छात्राओं पर इसका असर भी पड़ सकता है। पहले ही छात्राओं को अपने फॉर्म में आय प्रमाणित कराने के लिए मशक्कत करनी पड़ रही थी। ऐसे में फॉर्म भरकर जमा करा चुकी छात्राओं के लिए समाज कल्याण विभाग ने ओर काम बढ़ा दिया है। हालांकि विभाग स्कूलों को नए फॉर्म देने का ही दावा कर रहा है।

वर्ष 2017 के गौरा देवी कन्याधन योजना के फॉर्म भरकर स्कूलों में जमा करा चुकी छात्रायें दोबारा से फॉर्म नही भरे। उनके वहीं फॉर्म स्वीकार कर लिये जायेंगे। जिन छात्राओं ने अभी तक फॉर्म नही भरा है वह अपनी श्रेणी के आधार पर फॉर्म भरकर स्कूल में जमा करा दें।
महेश प्रताप सिंह सहायक समाज कल्याण अधिकारी डोईवाला।