Home » LIFE STYLE » बांग्लादेश पर जीत के बाद भारतीय ड्रेसिंग रूम मीटिंग का विवरण

बांग्लादेश पर जीत के बाद भारतीय ड्रेसिंग रूम मीटिंग का विवरण

बांग्लादेश के साथ एक दिलचस्प मैच जीत कर भारत ने अपना विश्व कप का सफ़र जारी रखा. आख़िरी गेंद पर धोनी ने बल्लेबाज़ को रन आउट कर के टीम को जीत दिला दी. इस मैच के बाद सभी खिलाड़ी काफ़ी राहत महसूस कर रहे थे. इसके बाद ड्रेसिंग रूम में उनके बीच क्या बात हुई, हमने अपने ख़ुफ़िया कैमरे से रेकॉर्ड कर ली. आइए पढ़ें उसी मीटिंग के कुछ अंश

Indian team

एक बांग्लादेशी विकेट गिरने पर खुशी मनाते भारतीय खिलाड़ी और रैना को छेड़ते जडेजा

कोहली: भाई साब कमाल ही कर दिया, कितनी तेज़ी से भागा हमारा बुज़ुर्ग शेर आख़िरी गेंद पर

धोनी: अरे नेहरा कहाँ भागा आख़िरी गेंद पर, रन आउट तो मैनें किया, खैर मैनें भी क्या किया, सब बुमरा और पांड्या ने ही किया

कोहली: सही बोले, लेकिन बुमरा भाई, अगले मैच मे चाय-काफ़ी पी कर मैदान मे उतरना, इतने सोए सोए क्यूँ थे पहले दस ओवर

अश्विन: हाथों में तेल लगा कर आया था, कोई बॉल चिपक ही नहीं रही थी इसके हाथ में

धोनी: तो तूने क्या इससे हाथ मिलाया था जो साक़िब की कैच नहीं चिपकी, उसके छक्कों नें मैच पलट ही दिया था

अश्विन: ग़लती से मिस्टेक हो गया, लेकिन फिर उसे आउट भी तो मैनें ही किया

कोहली: चलो जो हुआ सो हुआ, बच गए एंड में कि बांग्लादेश ने अपने अफ्रीकीकरण कर लिया, लेकिन ऑस्ट्रेलिया वाले ऐसे नहीं चोक करेंगे, थोड़ा खींच कर खेलना पड़ेगा

रोहित: खींच कर तो धोनी ने ले लिया उस पत्रकार को, इतनी तो मेरी भी नहीं मारी कभी जल्दी आउट होने पर

धोनी: सालो मैच जीत गये तो तुम्हारी तो क्या मारूं आज, इंसानियत है मुझमे. वो हथ्थे चढ़ गया तो उसी की बकवास का जवाब दे दिया. लेकिन टैलेंट तू सुधर जा, रन नहीं बना रहा तू वर्ल्ड कप में, बैटिंग सेट नहीं हो रही अब तक

नेहरा: हाँ बैटिंग में ही लोचा है, बोलिंग तो संभाल रखी है हमने. ये मुछड़ क्या करता है टीम मे मेरी तो समझ नहीं आता

धवन: कैच पकड़ा आज उस छुटकु मुशफिकुर का, उसी ने मैच पलट दिया

रहाने: कैच मैं भी अच्छे पकड़ता हूँ

धवन: यार ये मेरी जगह पर टकटकी लगाए बैठा रहता है और मुझे नर्वस कर देता है. भाई तू मिड्ल ऑर्डर प्लेयर है, तू युवराज और रैना को नज़र लगा

युवराज: मैने पाकिस्तान के खिलाफ रन बना दिए थे, मेरे आधा दर्जन मैच और तो बनते हैं

रैना: मैनें तो सबसे ज़्यादा रन बनाए आज और एक विकेट भी लिया, मेरे तो दर्जन मैच और बनते हैं

हरभजन: यार  हमें भी पूछ लो कोई, तीन महीने हो गए घूमते, एक मैच खिलाया वो भी यू ए ई के साथ. कोई हमें भी कुछ खिला लो

धोनी: अरे क्या यार, पहले बोलना था, चल तुझे होली खिलाता हूँ

हरभजन: ओ नहीं, मैं कह रहा था कि

(इससे पहले कि हरभजन अपनी बात पूरी कर पाते, धोनी नें उनका मुँह गुलाल से भर दिया)


Leave a Reply